दुर्गा पूजा के बीच बड़ा सियासी धमाका : नीतीश कैबिनेट से कृषि मंत्री सुधाकर सिंह का इस्तीफा, तेजस्वी को भेजा पत्र

Edited By:  |
Reported By:
durga puja ke beech bada siyasai dhamak nitish cabinet se krishi mantri sudhakar singh ka istifa durga puja ke beech bada siyasai dhamak nitish cabinet se krishi mantri sudhakar singh ka istifa

PATNA :इस वक्त की सबसे बड़ी सियासी खबर सामने आ रही है। बिहार सरकार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने नीतीश कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है। आरजेडी कोटे से कैबिनेट में मंत्री सुधाकर सिंह ने डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को अपना इस्तीफा भेज दिया है। आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने इसकी पुष्टि की है। इसके साथ ही महागठबंधन सरकार के अंदर 'ऑल इज वेल' है इस पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह जो सुधाकर सिंह के पिता भी हैं उन्होंने मंत्री के इस्तीफे की पुष्टि करते हुए कहा कि किसानों के हित में उन्होंने ये फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि भारत किसानों का देश हैं और सुधाकर सिंह एक किसान के बेटे हैं और किसानों के हित की बात करते रहे हैं आगे भी वे करते रहेंगे।

जगदानंद सिंह ने कहा कि आज भी बलिदान देने की आवश्यकता है। मंडी कानून की काफी समय से बात हो रही है। किसानों का आंदोलन मंडी कानून के लिए काफी समय तक चला है। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री ने किसानों के हित के लिए आवाज उठाया सिर्फ आवाज उठाने से नहीं होती है त्याग करना पड़ता है। किसानों के विषय पर कृषि मंत्री ने अपना त्यागपत्र दे दिया है। जगदानंद ने कहा कि किसान और जवान की भूमिका को कभी नकारा नहीं जा सकता है। किसान,जवान और नौजवान के हित के लिए कृषि मंत्री ने अपना इस्तीफा पत्र बिहार सरकार को दे दिया है।

बता दें कि पिछले कई दिनों से अपने विवादास्पद बयानों को लेकर कृषि मंत्री सुधाकर सिंह चर्चा में थे। उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा था- उनके विभाग में चोर भरे पड़े हैं और वे चोरों के सरदार हैं। वहीं, कुछ दिनों पूर्व उन्होंने कहा था- माप तौल अधिकारी मिलें तो जूते से मारिए। सुधाकर सिंह, नीतीश कुमार के कृषि रोड मैप पर भी सवाल उठा चुके हैं।

कृषि मंत्री सुधाकर सिंह बार-बार अपनी ही सरकार की भ्रष्टाचार की कलई खोलते नजर आ रहे थे। उन्होंने बीज निगम पर आरोप लगाते हुए कहा कि निगम के बीज फर्जी हैं। ढ़ाई- दो सौ करोड़ रुपए का बीज निगम ही खा जाता है। इस दौरान उन्होंने मंत्रालय के माप तौल विभाग को वसूली विभाग कह दिया था।

पटना से मरगूब आलम की रिपोर्ट ...