बिहार के प्राइवेट बसों में भी लगेगी CNG : पहले फेज में सरकार की तरफ से 50 बसों को दिया जायेगा 7.5 लाख का अनुदान

Edited By:  |
Reported By:
BIHAR KE PRIVATE  BUS ME CNG KIT LAGANE KI TIYARI BIHAR KE PRIVATE  BUS ME CNG KIT LAGANE KI TIYARI

PATNA-राजधानी में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए टेंपू के बाद अब प्राइवेट निजी बसों को भी सीएनजी लगाने पर राज्य सरकार उनको अनुदान की राशि मुहैया कराएगी ।इसके लिए परिवहन विभाग ने एक ड्राफ्ट बनाया है जिसके तहत्त पहले फेज में 50 बसों का चयन किया गया है जिनको राज्य सरकार सीएनजी किट लगाने पर 50 फ़ीसदी अनुदान की राशि लगभग 7.5 लाख अनुदान के रूप में सहायता करेगी ।

पहले से पटना में डीजल बसों का परिचालन बड़ी संख्या में होता रहा है जिससे प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है यह सरकार के लिए और हमारे पर्यावरण के लिए भी बड़ी चुनौती है वैसे स्थिति में सरकार ने एक प्रारूप बनाया है और जल्द ही कैबिनेट से इसकी मंजूरी भी हो जाएगी । राज्य सरकार के द्वारा जल्द ही पटना नगर निगम क्षेत्र के लिए 15वे वित्त आयोग की अनुशंसा पर लगभग 3 .75 करोड़ की राशि दी जिला के डीएम को दी जाएगी साथ ही सरकार ने एक नियमावली बनाई है जिसके तरह जो भी लाभूक इस योजना का लाभ लेंगे उनको यह घोषणा पत्र देना होगा की उन्होंने पुराने डीजल बस को नए सीएनजी किट में कन्वर्ट कराया है अगर वह ऐसा नहीं करेंगे तो वैसे स्थिति में उनसे राशि वसूलने का भी काम करेगी ।

सरकार की एक कोशिश है कि बिहार की राजधानी पटना के तमाम सिटी डीजल बसे हैं उनको सीएनजी में कन्वर्ट किया जाए पहले फेज में 50 बसों को सीएनजी में कन्वर्ट करके प्रयोग कर रही है आने वाले समय में पटना के तमाम सिटी बसों को सीएनजी में कन्वर्ट कराने के लिए राज्य सरकार अनुदान के साथ-साथ उनको समय सीमा भी देने का काम करेगी ताकि जो सिटी बसें हैं वह सीएनजी में कन्वर्ट हो जाए और प्रदूषण का स्तर कम हो। लगातार सरकार पर बढ़ते प्रदूषण को लेकर चिंतित है और टेंपू को भी 2022 तक का समय निर्धारित किया है आने वाले समय में सभी बसे सीएनजी से चलेगी तो राजधानी पटना में प्रदूषण के स्तर में काफी सुधार हो सकेगा।इसके लिे जल्द ही सरकार इस योजना को कैबिनेट से मंजूरी दिलाने पर काम कर रही है।