news-details

गिरिराज को लेकर तेजस्वी ने छेड़ा ट्विटर वार ,निशाने पर नीतीश और सुशील भी

जमींन हड़पने के एक मामले में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर एफआईआर दर्ज होने के बाद एनडीए और आरजेडी आमने -सामने आ गए हैं। इसको लेकर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्विटर वॉर छेड  दिया है। जबकि एनडीए बचाव की मुद्रा में है। तेजस्वी ने ट्वीट कर सीएम नीतीश से पूछा है कि आपके दुलारे सहयोगी दल के वरिष्ठ नेता और प्यारे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने लगभग तीन एकड़ गरीबों की जमीन  पर कब्ज़ा कर लिया है। जिसमे एफआईआर दर्ज की गई है। तो क्या अब आप गठबंधन तोड़ेंगे ? इस्तीफा देंगे अंतरात्मा बाबू ? अब कहाँ पानी भर रही है आपकी नैतिकता ?कोई जवाब ?   

 तेजस्वी ने पीएम मोदी को भी निशाने पर लिया है। कहा है -आपके मंत्री गरीबो को घर  देने के बदले उनकी जमीन पर कब्ज़ा करने लगे हैं। आप अपने स्तर  से मामले को देखें, कहीं  ये मंत्री गरीबों को पकिस्तान भेजने की बात न करने लगें ? इसी बहाने तेजस्वी ने सुशील मोदी पर भी तंज कसा है। ट्वीट में पूछा है कि देश के सबसे बड़े अफवाह मियां और खुलासा मास्टर  सुशील मोदी के मुंह में दही क्यों जम गया है ?

मालूम हो कि पटना सिविल कोर्ट के आदेश पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह समेत 33 अन्य लोगों पर दानापुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई  गई है। प्राथमिकी आसोपुर के राम नारायण प्रसाद ने दर्ज कराई है। इसमें 3 सीओ का भी नाम है।  उन्होंने कोर्ट में परिवाद पत्र दायर किया था। उसी पर कोर्ट ने प्राथमिकी दर्ज कर जाँच का आदेश दिया है। इनलोगों पर करीब तीन एकड़ जमीन पर कब्ज़ा का आरोप है। प्राथमिकी में अनुसूचित जाती -जनजाति अत्याचार निरोधक अधिनियम की धारा भी जोड़ी गई है। पुलिस का कहना है की मामले की छानबीन की जा रही है। उधर बिहार सरकार के मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने इसे साजिश करार दिया है। जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने गिरिराज का  बचाव करते हुए कहा  कि सरकार को बदनाम करने के लिए बेवजह मंत्री का नाम इसमें घसीटा जा रहा है।    

 

 

 

 

 

 

 

 

 

  

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 गिरिराज को लेकर तेजस्वी ने छेड़ा ट्विटर वार 

निशाने पर नीतीश और सुशील भी 

__________________________________

जमींन हड़पने के एक मामले में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर एफआईआर दर्ज होने के बाद एनडीए और आरजेडी आमने -सामने आ गए हैं। इसको लेकर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्विटर वॉर छेड  दिया है। जबकि एनडीए बचाव की मुद्रा में है। तेजस्वी ने ट्वीट कर सीएम नीतीश से पूछा है कि आपके दुलारे सहयोगी दल के वरिष्ठ नेता और प्यारे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने लगभग तीन एकड़ गरीबों की जमीन  पर कब्ज़ा कर लिया है। जिसमे एफआईआर दर्ज की गई है। तो क्या अब आप गठबंधन तोड़ेंगे ? इस्तीफा देंगे अंतरात्मा बाबू ? अब कहाँ पानी भर रही है आपकी नैतिकता ?कोई जवाब ?   

 तेजस्वी ने पीएम मोदी को भी निशाने पर लिया है। कहा है -आपके मंत्री गरीबो को घर  देने के बदले उनकी जमीन पर कब्ज़ा करने लगे हैं। आप अपने स्तर  से मामले को देखें, कहीं  ये मंत्री गरीबों को पकिस्तान भेजने की बात न करने लगें ? इसी बहाने तेजस्वी ने सुशील मोदी पर भी तंज कसा है। ट्वीट में पूछा है कि देश के सबसे बड़े अफवाह मियां और खुलासा मास्टर  सुशील मोदी के मुंह में दही क्यों जम गया है ?

मालूम हो कि पटना सिविल कोर्ट के आदेश पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह समेत 33 अन्य लोगों पर दानापुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई  गई है। प्राथमिकी आसोपुर के राम नारायण प्रसाद ने दर्ज कराई है। इसमें 3 सीओ का भी नाम है।  उन्होंने कोर्ट में परिवाद पत्र दायर किया था। उसी पर कोर्ट ने प्राथमिकी दर्ज कर जाँच का आदेश दिया है। इनलोगों पर करीब तीन एकड़ जमीन पर कब्ज़ा का आरोप है। प्राथमिकी में अनुसूचित जाती -जनजाति अत्याचार निरोधक अधिनियम की धारा भी जोड़ी गई है। पुलिस का कहना है की मामले की छानबीन की जा रही है। उधर बिहार सरकार के मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने इसे साजिश करार दिया है। जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने गिरिराज का  बचाव करते हुए कहा  कि सरकार को बदनाम करने के लिए बेवजह मंत्री का नाम इसमें घसीटा जा रहा है।    

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

जमींन हड़पने के एक मामले में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर एफआईआर दर्ज होने के बाद एनडीए और आरजेडी आमने -सामने आ गए हैं। इसको लेकर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्विटर वॉर छेड  दिया है। जबकि एनडीए बचाव की मुद्रा में है। तेजस्वी ने ट्वीट कर सीएम नीतीश से पूछा है कि आपके दुलारे सहयोगी दल के वरिष्ठ नेता और प्यारे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने लगभग तीन एकड़ गरीबों की जमीन  पर कब्ज़ा कर लिया है। जिसमे एफआईआर दर्ज की गई है। तो क्या अब आप गठबंधन तोड़ेंगे ? इस्तीफा देंगे अंतरात्मा बाबू ? अब कहाँ पानी भर रही है आपकी नैतिकता ?कोई जवाब ?   

 तेजस्वी ने पीएम मोदी को भी निशाने पर लिया है। कहा है -आपके मंत्री गरीबो को घर  देने के बदले उनकी जमीन पर कब्ज़ा करने लगे हैं। आप अपने स्तर  से मामले को देखें, कहीं  ये मंत्री गरीबों को पकिस्तान भेजने की बात न करने लगें ? इसी बहाने तेजस्वी ने सुशील मोदी पर भी तंज कसा है। ट्वीट में पूछा है कि देश के सबसे बड़े अफवाह मियां और खुलासा मास्टर  सुशील मोदी के मुंह में दही क्यों जम गया है ?

मालूम हो कि पटना सिविल कोर्ट के आदेश पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह समेत 33 अन्य लोगों पर दानापुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई  गई है। प्राथमिकी आसोपुर के राम नारायण प्रसाद ने दर्ज कराई है। इसमें 3 सीओ का भी नाम है।  उन्होंने कोर्ट में परिवाद पत्र दायर किया था। उसी पर कोर्ट ने प्राथमिकी दर्ज कर जाँच का आदेश दिया है। इनलोगों पर करीब तीन एकड़ जमीन पर कब्ज़ा का आरोप है। प्राथमिकी में अनुसूचित जाती -जनजाति अत्याचार निरोधक अधिनियम की धारा भी जोड़ी गई है। पुलिस का कहना है की मामले की छानबीन की जा रही है। उधर बिहार सरकार के मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने इसे साजिश करार दिया है। जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने गिरिराज का  बचाव करते हुए कहा  कि सरकार को बदनाम करने के लिए बेवजह मंत्री का नाम इसमें घसीटा जा रहा है।    

 

 

 

 

 

You can share this post!

Leave Comments

madhuranjan kumar:   This Demo Message
madhuranjan kumar:    This Is Demo Message
Chandu.lal.marandi:   


You have characters left.