ब्रेकिंग न्यूज़  
  • वीडियो भेजो और बन जाओ PCB के खिलाड़ी

    कराची। हमेशा विवादों में रहने वाला पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इस बार अपनी एक नयी गतिविधि के लिए चर्चा में है। दरअसल पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने खेल के लिए नये और प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की खोज  के लिए एक नये तरीके को इजाद किया है। बोर्ड की इस नयी योजना के मुताबिक वो प्रतिभाशाली खिलाड़ियों का वीडियो मंगवाएगा और उसको परखेगा। यदि किसी खिलाड़ी का वीडियो PCB को पसंद आता है तो वो उसे एनसीए में ट्रायल के लिए सीधे प्रवेश देगा।  इस काम के लिए पीसीबी जल्दी ही एक वेबसाइट भी शुरू करने की योजना बना रहा है, जिसपर इच्छुक खिलाड़ी अपना वीडियो पोस्ट कर सकेगा। इसके अलावा खिलाड़ी को अपने करियर के बारे में अन्य जानकारियां भी देनी होंगी। खिलाड़ियों के द्वारा पोस्ट किये गये वीडियो को एनसीए में नियमित रूप से कोच देखेंगे और यदि उन्हें लगा कि उस खिलाड़ी को मौका दिया जाना चाहिए या फिर उसपर विचार किया जा सकता है तो एनसीए में उस खिलाड़ी को ट्रायल के लिए बुलाया जाएगा।

    इस बारे में पीसीबी के एक अधिकारी ने बताया कि ये योजना मुख्य रूप से बोर्ड के अध्यक्ष शहरयार खान का था । दरअसल शहरयार को हमेशा इस बात की शिकायत मिला करती थी कि प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को नजरअंदाज किया जा रहा है। इसी वजह से इस योजना पर विचार किया गया।   

  • औरंगाबाद में बम की खबर निकली अफवाह , टेबल क्लॉक छुपाकर की गयी थी शरारत

    औरंगाबाद ।  औरंगाबाद में नक्सलियों ने केताकी पुल के नीचे बम लगा दिया । जिससे इलाके में दहशत का माहौल है । बम की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और इलाके की घेराबंदी कर दी । रास्ते में फिलहाल आवागमन रोक दिया गया है और बम निरोधक दस्ते का इंतजार किया जा रहा है । एसपी के मुताबिक पुल के नीचे टाइमर बम लगाया गया है । बता दें कि 5 साल पहले भी नक्सलियों ने पांच वर्ष पहले नक्सलियों ने उत्तर कोयल नहर पर बने इस पुल को बम लगा क्षतिग्रस्त कर दिया था। इस वजह से लोग काफी दहशत में थे।

    इसके बारे में विस्तार से ग्रामीणों ने बताया कि पुल के नीचे से टिक – टिक की लगातार आवाज रही थी। पहले तो ग्रामीणों ने खुद से वहां पता लगाने की कोशिश की , लेकिन कामयाब ना होने पर फौरन पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उस जगह का मुआयना किया और फिर बम निरोधक दस्ते को बुलाया गया । उसरास्तेको भीआवागमनके लिए रोक दिया गया था। लेकिन जांच में वहां की बम नहीं मिला। किसी ने शरारतवश टेबल क्लॉक को कपड़े में लपेटकर वहां छुपा दिया था और उससे एक तार जोड़कर बाहर तक निकाल दिया था। लेकिन बम की अफवाह से लोग एक तो दहशत में रहे और साथ ही उन्हें परेशानी भी हुई। पुलिससको भी खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। चूंकि बम निरोधक दस्ते को रोहतास जिले के डेहरी से बुलाया गया था। एसपी राजेश भारती ने भी इसे किसी की शरारत बताया है।  

  • चान्हो बीडीओ को निगरानी ने किया गिरफ्तार, ईमानदार छवि का बताकर ग्रामीणों ने छुड़ाया

    रांची। रांची के चान्हो में गिरफ्तार बीडीओ प्रवीण कुमार को ग्रामीणों ने निगरानी की टीम से छुड़ा लिया है । दरअसल निगरानी ने बीडीओ को 3500 रूपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तारी किया था । जिसका ग्रामीणों ने जोरदार विरोध किया । ग्रामीणों ने बीडीओ को बेहद ही ईमानदार छवि वाला अफसर बताया है। वहीं ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए रांची से अतिरिक्त पुलिस बल मौके पर रवाना हो गई है । ग्रामीणों ने निगरानी की पूरी टीम को घेर लिया और बीडीओ की गिरफ्तारी के विरोध में हंगामा करने लगे।

    दरअसल इस पूरे मामले के बारे बताया जा रहा है कि चान्हो बीडीओ का क्षेत्र के ही एक ठेकेदार से कुछ दिनों पहले किसी मामले पर बहस हुई थी और ठेकेदार ने प्रवीण कुमार को धमकी देते हुए देख लेने की बात कही थी। इसके साथ ही धमकी भी दिया था कि या तो इलाके में वो रहेगा या फिर बीडीओ ही रहेंगे। ठीक इसके कुछ दिनों बाद ही आज ये पूरा मामला सामने आया है। इस पूरे मामले में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि निगरानी ने ट्रैप के जरिए बीडीओ को पकड़ा है । लेकिन ट्रैप करने के दौरान बीडीओ के हाथ में लाल रंग नहीं लगा। बावजूद इसके निगरानी ने बीडीओ प्रवीण कुमार को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया और बीडीओ को निगरानी की गिरफ्त से छुड़ा ले गये। कहा तो ये भी जा रहा है कि की शख्स आया और उसने बीडीओ के सामने पैसे फेंक दिए , लेकिन उन्होंने हाथ नहीं लगाये थे। इस पूरे मामले के पीछे ठेकेदार का हाथ बताया जा रहा है।           


  • मॉनसून सत्र के दूसरे दिन कानून - व्यवस्था पर आमने - सामने हुए पक्ष और विपक्ष

    पटना। बिहार विधानसभा के मॉनसून सत्र का दूसरा दिन हंगामे की भेंट चढ़ गया। पक्ष और विपक्ष दोनों  ही  आपस में भिड़ गये। दूसरे दिन का सत्र जैसे ही शुरू हुआ सदन में हंगामा होना शुरू हो गया। जहां विपक्ष सूबे की कानून व्यवस्था को लेकर सरकार से जवाब मांग रही थी और हंगामा कर रही थी। तो दूसरी ओर व्यापम घोटाला और ललित मोदी के मुद्दे पर JDU हंगामा कर रही थी। JDU ने सुषमा स्वाराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के भी इस्तीफे की मांग की । सूबे की कानून व्यवस्था को लेकर पक्ष और विपक्ष आमने – सामने आ गये। ज्यादा हंगामा होता देख सदन की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।    

    दूसरी ओर विधानसभा के बाहर जेडीयू के बागियों ने भी प्रदर्शन किया और मंत्री श्रवण कुमार के इस्तीफे की मांग की । जिसपर मंत्री ने सवाल उठाया और बागियों पर तंज सकते हुए कहा किविपक्ष का आचरण बिल्कुल गलतहै। विपक्ष की ओर से कार्यवाही में बाधा पहुंचाना गलतहै। इसके साथ ही जेडीयू के बागी विधायकों परश्रवण कुमार ने कहा कि बागी विधायकों की चुनौती मुझे स्वीकार है और मैं इस्तीफा क्यू दूं।मैंने कोई दल विरोधी काम नहीं किया है।

    विधानसभा का सत्र शुरू होते ही विपक्ष की ओर से कानून व्यवस्था के साथ ही राज्य में इन दिनों चल रहे आंदोलनों के बारे में भी सरकार से जवाब मांगा और हंगामा शुरू हो गया । भाजपा की ओर से कल सांख्यिकी सेवकों पर पुलिस लाठीचार्ज का मामला भी सदम नें उठाया गया और सरकार से जवाब मांगा गया। इसपर दोनों पक्षों की ओर से हंगामा होने लगा।    

    सदन से बाहर निकलते ही नेता प्रतिपक्ष नंजदकिशोर यादव ने कहा कि इस समय सूबे में कानून – व्यवस्था के कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। राज्यवासी बढ़ते अपराध से परेशान हैं । इसके साथ ही भाजपा नेता सुशील मोदी ने भी राज्य में बढ़ते कानून – व्यवस्था को लेकर सवाल उठाया और कहा कि हाल के दिनों में क्राइम का ग्राफ सूबे में बढ़ा है। कानून – व्यवस्था के अलावा सुमो ने प्रशासनिक अधिकारिय़ों के तबादले को लेकर भी सवाल उठाया और सरकार को इस मुद्दे पर घेरा।       



  • बाबानगरी पहुंचे रघुवर दास का एलान, बासुकीनाथ और तारापीठ को मिलाकर बनेगा पर्यटन सर्किट

    देवघर । सावन के महीने में बाबनगरी देवघर की शोभा देखते ही बनती है। भोले बाबा पर जल चढ़ाने के लिए हर भक्त व्याकुल रहता है। सावन की पहली सोमवारी पर लाखों लोगों ने जल चढ़ाया। 15 किमी. तक की लंबी लाइनें लगी हुई थीं। सोमवार के अलावा हर दिन काफी संख्या में भक्त बाबा भोले पर चल चढ़ा रहे हैं। झारखंड के मुखिया रघुवर दास भी आज बाबा दरबार पहुंचे और उन्होंने जल चढ़ाकर राज्य के विकास की कामना की। सीएम के दौरे की वजह से बाबा नगरी की सुरक्षा व्यवस्था काफी चाक चौबंद थी। इसके साथ ही सीएम ने अपने कुछ नेताओं के साथ वहां पूजा की।         

    बाबानगरी में पूजा करने के बाद सीएम रघुवर दास ने देवघर में इसका एलान किया कि बासुकीनाथ और तारापीठ को मिलाकर पर्यटन सर्किट बनाया जाएगा । इससे पहले उन्होंने बाबा दरबार में मत्था टेका । यहां से वो दुमका स्थित बासुकीनाथ मंदिर भी गये और वहां भी पूजा – अर्चना की। दोपहर बाद सीएम दुमका से रांची लौटेंगे और कैबिनेट की बैठक करेंगे । जिसके बाद शाम में सीएम का जमशेदपुर में जनता से मिलने का कार्यक्रम है।

    यहां बता दें कि सावन शुरू होने के कुछ दिनों पहले ही रघुवर दास ने बासुकीनाथ में एक बड़े धर्मशाला का उद्धघाटन किया था । दरअसल कांवरियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए धर्मशाला का उद्धाटन कराया था। चूंकि सावन के महीने में बाबा नगरी देवघर में भक्तों की भारी भीड़ होती है और ऐसे में ठहरने के लिए भक्तों को काफी समस्यायें होती हैं।    

 
LIVE NEWS
BIG NEWS
 
KASHISH NEWS PROGRAMMES
kashish News Programmes...
 
 
 
व्यापार
RBI की कर्ज नीति समीक्षा में ब्याज दरों में नहीं हु्आ कोई बदलाव

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ने आज फिर से अपनी कर्ज नीति की समीक्षा की । लेकिन RBI ने समीक्षा के बाद अपनी ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। इस समय  रेपो रेट 7.25 फीसदी...

बॉलीवुड
'बिटिया की बिटिया...सुंदर चिरैया '

मुंबई। बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन जितना प्यार अपनी बेटी श्वेता से करते हैं , उससे कहीं ज्यादा अपनी नातिन नव्या नवेली नंदासे...

 
खेल जगत
..PICTURE GALLERY
आपकी राय
क्या बिहार विधानसभा का मॉनसून सत्र चुनावी राजनीति की भेट चढ़ रहा है?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
Facebook Like
जरुर देखें
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2015 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech