Manor-One
  ब्रेकिंग न्यूज़  
  • अब कटिहार में दिखा "मटुकनाथ-जूली पार्ट- 2" LOVE

    कटिहार। कटिहार में कुर्सेला प्रखंड के इंदिरा गांव में  तीन दिन पहले हुए बेमेल विवाह को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, मुंगेर के रहनेवाले और खुद को जमालपुर कॉलेज का प्रोफेसर बतानेवाले वृद्ध घनश्याम मिश्र ने अपने से बेहद कम उम्र की लड़की से शादी रचाई है। घनश्याम की पहली पत्नी की मौत हो चुकी है। जबकि नई पत्नी के पहले पति ने उसका त्याग कर दिया है। ऐसे में दोनों एक दूसरे का सहारा बन गए हैं। लेकिन गांव के लोग इस शादी के खिलाफ हैं। गांव के लोगों का कहना है कि एक प्रोफेसर ने रिक्शेवाले की लड़की से भले ही शादी कर ली हो, लेकिन वह उसे कभी पत्नी का दर्जा नहीं दे पाएगा, क्योंकि अमीर लोग हमेशा गरीबों को ठगते आए हैं। जबकि हाल ही में दूल्हा बने प्रोफेसर ने लिखित रूप में नवविवाहिता को पत्नी का अधिकार देने और जिंदगी भर साथ निभाने का वादा किया है। इतना ही नहीं, खुद लड़की ने भी अपने पति के साथ रहने की इच्छा जताई है।

    दरअसल इसके बारे में बताया जा रहा है कि युवती को उसके पहले पति ने छोड़ दिया है और उसका पिता रिक्शा चलाकर गुजारा चलाता है। वहीं युवती के पिता ने भी इस रिश्ते को स्वीकार कर लिया है और ये कहा है कि भले ही उसके दामाद की उम्र उससे भी ज्यादा है लेकिन उसने सुखी और संपन्न व्यक्ति से शादी कर रही है, जो उसका अच्छे से ख्याल रखेगा। अब इससे बड़ी बात उसके लिए और क्या हो सकती है।  

  • अब गुजरात में VHP ने करवायी 'घर वापसी", 200 से ज्यादा ईसाई आदिवासी बने हिंदु

    वलसाड। देश में इस वक्त धर्मांतरण का मुद्दा सड़क से संसद तक छाया हुआ है और इसपर काफी बवाल भी मचा हुआ है। लेकिन इसके बावजूद भी धर्मांतरण देश के कई जगहों पर जारी है। यही नहीं विश्व हिंदु परिषद की ओर से भी ये बयान जारी किया गया है कि ‘घर वापसी’का काम जारी रहेगा। अब इसी क्रम में धर्मांतरण का एक और मामला गुजरात में सामने आया है। विश्व हिन्दू परिषद् ने वलसाड जिले के अरनाई गांव में संस्कारों का आयोजन कर 200 से ज्यादा ईसाई आदिवासियों का फिर से धर्म परिवर्तन कर उनकी घर वापसी की है और उन्हें हिन्दू बनाया है। गुजरात में हुई इस धर्मांतरण का  दावा संगठन के एक स्थानीय नेता ने किया है। साथ ही संगठन की ओर से ये भी कहा गया है कि पुनर्धर्मांतरण स्वेच्छा से हुआ था और इसमें कोई जोर-जबरदस्ती या लालच का प्रयोग नहीं किया गया था।

    वहीं वीएचपी के वलसाड जिले के प्रमुख नातु पटेल ने इस बारे में बताया कि, 'घर वापसी अभियान के तहत संघ ने ईसाई समुदाय के 225 लोगों को वापस हिन्दू धर्म में लिया है ।'इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि विहिप ने आदिवासियों की हिन्दू धर्म में वापसी से पहले उनके शुद्धीकरण के लिए एक महायज्ञ का आयोजन भी किया था। वहीं विहिप के दूसरे कार्यकर्ता ने इस बारे में बताया कि घर वापसी कार्यक्रम में करीब 3,000 लोगों ने भाग लिया।


  • इंफाल के खोयाथोंग में IED ब्लास्ट, 3 की मौत 4 लोग घायल

    नई दिल्ली। मणिपुर की राजधानी इंफाल में आज सुबह के वक्त आइइडी ब्लास्ट हुआ है और उस ब्लास्ट में तीन लोगों की मौत हो गई है ,जबकि चार लोग घायल हो गए हैं। ये आईईडी ब्लास्ट इंफाल के खोयाथोंग इलाके में हुआ है और सभी घायलों को इलाज के लिएरीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं 4 घायलों में से एक की हालत नाजुक बतायी जा रही है।

    दरअसल इस ब्लास्ट के बारे में बताया जा रहा है कि इंफाल की राजधानी मणिपुर में शहर से करीब एक किलोमीटर दूर खोयाथोंग क्षेत्र में कुछ मजदूरचाय की दुकान पर सुबह के वक्त चाय पीने आये थे और उसी दौरान वहां पर जोरदार धमाका हुआ। मौके पर धमाका होते ही घटनास्थल पर ही तीन मजदूरों की मौत हो गई, जबकि चार लोग बुरी तरह घायल हो गए। वहीं मृतकों के बारे में बताया जा रहा है कि मृतक तीनों मजदूर मणिपुर के निवासी नहीं थे।

    वहीं इस घटना पर पुलिस का कहना है कि ब्लास्ट करीब सुबह करीब 6 बजे हुआ और मरने वालों का पहचान कर ली गई है। मृतकों का नाम शिव यादव (35 वर्ष), ललन (35 वर्ष) और कुसुम पंडित (60 वर्ष) है। IEDब्लास्ट के बारे में पुलिस छानबीन कर रही है किइसके पीछे किसका हाथ है। लेकिन अभी तक इस ब्लास्ट मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है और ना ही अब तक किसी भी आतंकी संगठन ने ब्लास्ट की जिम्मेदारी ही ली है।

    गौरतलब है कि एक सप्ताह पहले भी यहां एक ब्लास्ट हुआ था और उस ब्लास्ट में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और साथ ही पांच लोग घायल हो गए थे। उस ब्लास्ट में जो मृतक था वो भी एक मजदूर ही था और उसकी भी मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी। घटना के बाद मुख्यमंत्री इबोबी सिंह और उप मुख्यमंत्री गैखंगम ने दुख जताते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं।


  • नहीं रूकेगा 'घर वापसी', जिन्हें आपत्ति हो वे कानून लाएं - मोहन भागवत

    कोलकाता। धर्मांतरण के मुद्दे पर देशभर में बवाल मचा हुआ है। संसद में भी इस मुद्दे पर काफी हंगामा हुआ है। वहीं देश के स्थायी सदन राज्यसभा में तो विपक्ष ने पीएम से खुद जवाब देने को कहा और साथ ही ये भी कहा कि पीएम के जवाब देने के बाद ही सदन को चलने दिया जाएगा। धर्मांतरण के मुद्दे पर इतना बवाल होने के बाद भी RSS ओर से ‘घर वापसी’का कार्यक्रम जारी है।

    वहीं कोलकाता पहुंचे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने शनिवार को कोलकाता में आयोजित विशाल हिंदु महासभा में साफतौर पर ये एलान कर दिया कि संघ परिवार का ‘घर वापसी’कार्यक्रम नहीं रुकने जा रहा। इसके साथ ही भागवत ने ये भी कहा कि हमारे इस घर वापसी पर जिसे भी आपत्ति हो धर्मातरण के खिलाफ कानून बनाए, जो पूरे देश के लोगों पर लागू हो। भागवत ने आगे बोलते हुए कहा कि संसद में धर्मांतरण पर कानून बनाने की बात कही गयी तो लोगों को इसपर भी आपत्ति है। भागवत ने धर्मांतरण के विरोधियों को साफ कहा कि यदि लोगों को हिंदु बनने से रोकना चाहते हैं तो वे लोग ये भी निश्चित कर लें कि कोई हिंदु भी फिर दूसरे धर्म में नहीं ले जाया जाए। संघ प्रमुख ने लोगों से कहा कि किसी से डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हम अपने राष्ट्र में हैं और हमारा राष्ट्र एक हिंदु राष्ट्र है और हम सारे हिंदु हैं और हिंदु अपनी धरती नहीं छोड़ेगा।

    भागवत ने कोलकाता में शनिवार विशाल हिंदू सम्मेलन में घर वापसी कर रहे विरोधियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ‘घर वापसी’करने का संघ का कार्यक्रम जारी रहेगा। घर वापसी पर ही बोलते हे भागवत ने कहा कि हम अपनी चोरी की गई संपत्ति को वापस ले रहे हैं तो इसमें गलत क्या है?  हमारा उद्देश्य हिंदू समाज को मजबूत बनाना है। अगर आपको यह पसंद नहीं तो संसद कानून बनाए।


  • KASHISH-SVC की एग्जिट पोल में भाजपा को बढ़त, सर्वे में 37-44 सीटें भाजपा की ओर

     नई दिल्ली। झारखंड में पांचवें और अंतिम चरण के मतदान के साथ ही राज्य में विधानसभा चुनाव संपन्न हो गया । अब सबको बेसब्री से इंतजार है 23 दिसंबर का जब मतों की गिनती का काम होगा । यानि कि 23 दिसंबर को ये पता चलेगा कि किसकी किस्मत का दरवाजा खुल जाएगा और साथ ही किस दिग्गज की किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया ये भी सामने आ जाएगा।

    लेकिन अब जब मतदान खत्म हो गया तो अब समय सबके लिए एक्जिट पोल का समय आ गया है और इस एग्जिट पोल में सभी पार्टियों को पीछे छोड़ते हुए भाजपा आगे निकलती हुई नजर आ रही है। यानि कि इस बार भी मोदी लहर काम आ गयी और एग्जिट पोल के हिसाब से झारखंड में भाजपा की सरकार बनती नजर आ रही है।

     

    चुनाव एक ऐसा लंम्हा होता है जिसके नतीजे के लिए न सिर्फ सैकड़ों उम्मीदवारों को इंतजार होता है बल्कि करोड़ों मतदाताओं को भी बेसब्री से इस घड़ी का इंतजार होता है। नजीते आने में अभी तीन दिन का वक्त है लेकिन कशिश न्यूज और एसबीसी ने एग्जिट पोल किया है और उसमें सर्वे भी भाजपा को ही बढ़त मिलती दिखा रहा है।

     

    आइए जान लेते हैं कशिश-एसवीसी का एग्जिट पोल :

     

    इसके मुताबिक भाजपा को सबसे ज्य़ादा 37-44, वहीं जेएमएम को 15-18, कांग्रेस को 7-11, जेवीएम को 4-7 और अन्य को 5-7 सीटें मिलती दिख रही हैं। यानि कि कशिश-एसवीसी के एग्जिट पोल में भाजपा की सरकार बनती दिख रही है।

      

    गौरतलब है कि झारखंड में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उनकी अगुआई में यह दूसरा चुनाव था। इससे पहले महाराष्ट्र और हरियाणा के चुनाव में भाजपा ने सभी को पछाड़कर दोनों ही राज्यों में अपनी सरकार बनाई है। अब झारखंड के एग्जिट पोल में भी भाजपा को बढ़त मिलती दिखाई दी है। यानि कि एक बार फिर से भाजपा लहर और झारखंड में भाजपा की सरकार बनती दिख रही है।

 
LIVE NEWS
BIG NEWS
 
Sail city
..PICTURE GALLERY
 
 
व्यापार
महंगाई दर साढ़े 5 सालों में पहुंची शून्य फीसदी पर

नई दिल्ली। रिटेल महंगाई दर में पहले गिरावट के बाद अब थोक गिरावट में भी गिरावट दर्ज की गई है। यदि नवंबर महीने की बात करें तो थोक महंगाई दर में अनुमान से भी ज्यादा अच्छा रहा।...

बॉलीवुड
कमाई के मामले में 3 इडिएट्स से पिछड़ती दिख रही PK

नई दिल्ली। आमिर खान की फिल्म PK19 दिसंबर को रीलिज हो गयी और फिल्म को देखने के लिए लोगों की लंबी लाइन भी सिनेमाघरों में...

 
खेल जगत
PICTURE
आपकी राय
बकौल सचिन ट्वंटी-20 फार्मेट ने क्रिकेट को और रोमांचक बना दिया है. क्या आप सहमत हैं?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2014 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech