ब्रेकिंग न्यूज़  
  • जिद करो ,दुनिया बदलेगी .....संपादक प्रवीण बागी की कलम से............

    "कौन कहता है आकाश में सुराख़ हो नहीं सकता / एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों "


    दुष्यंत कुमार की ये कालजयी पंक्तियाँ बिहार में शराबबंदी के पक्ष में बनी मानव श्रंखला को देखकर दिमाग में अनायास ही कौंध गई। 21 जनवरी 17 को बनी यह मानव श्रृंखला अभूतपूर्व और ऐतिहासिक थी। बिहार जैसे राज्य में शराबबंदी के पक्ष में 3 करोड़ से ज्यादा लोगों का सड़क पर आना किसी चमत्कार से कम नहीं। बिहार में ऐसे चमत्कार होते रहते हैं। ऐसे चमत्कार यह उम्मीद जगाते हैं कि बिहार भी बदल सकता है। बशर्ते कोई सही नेतृत्वकर्त्ता मिले।बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वह कर दिखाया जो दुनिया में आज तक नहीं हुआ था।


    कहते हैं कि आजतक दुनिया में इतनी लंबी और इतने अधिक लोगों की मानव श्रृंखला नहीं बनी थी। नीतीश कुमार द्वारा शुरू की गई शराबबंदी की मुहिम को सभी दलों ने समर्थन दिया। हाल में अपने पटना दौरे के समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी नीतीश की इस मुहिम का पुरजोर समर्थन किया। इससे शराबबंदी के अभियान को और बल मिला। जब नीतीश कुमार ने शराबबंदी लागू की थी ,उस समय अलग -अलग वजहों से इसकी आलोचना की जा रही थी। लेकिन नीतीश आलोचनाओं से घबराये नहीं, डटे रहे। अपनी हर सभा में शराबबंदी के पक्ष में दलीलें देते रहे। इसका असर भी हुआ। शराबबंदी से गांवों में भी माहौल बदला।लोगों को समझ में आने लगा की शराब से फायदा नहीं है। और फिर कारवां बढ़ता गया। जिसका नतीजा 21 जनवरी को दिखा।


    यह मानव श्रृंखला 11 हज़ार 400 किलोमीटर लंबी थी। हालाँकि कई जगह लोग दो -दो -तीन -तीन लाइन लगाए हुए थे। 45 मिनट से अधिक समय तक पूरे बिहार में लोग एक दूसरे का हाथ पकडे खड़े रहे। पटना के गांधी मैदान में नीतीश कुमार लालू प्रसाद का हाथ पकडे मानव श्रृंखला का हिस्सा बने। उधर सिवान में केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ,बीजेपी नेता सुशील मोदी, विधानसभा में विपक्ष के नेता प्रेम कुमार ,सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल आदि नेता मानव श्रृंखला का हिस्सा बने।


    आम लोगों में उत्साह था। पश्चिम चंपारण में एक डेयरी संचालक जय सिंह और यश सिंह ने ने 600 लीटर दूध की चाय बनाकर मानव श्रृंखला में शामिल लोगों को मुफ्त में पिलाई । यह भाव बता रहा था कि बिहार में अब शराब का दौर गुजरे ज़माने की बात हो गई है। हालांकि कई जगह कुछ बच्चे -बच्चियां बेहोश हो गए। शुक्र है की इलाज से वे तुरंत ठीक हो गए।


    इस ऐतिहासिक घटना को रिकार्ड करने के लिए 5 सेटेलाइटों से तस्वीर ली गई। इसके अलावा 40 ड्रोन ,कई हेलीकॉप्टर भी इस काम में लगे हुए थे। सभी तस्वीरों और रेकॉर्डिंग की पुष्टि के बाद गिनीज बुक में इसे दर्ज किया जायेगा। इतनी लंबी मानव श्रृंखला दुनिया ने नहीं देखी  थी. बिहार ने अरसे बाद अपनी ताकत दिखाई है। यह जज्बा बना रहे तो बिहार को आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता।



    कशिश संपादक प्रवीण बागी की कलम से........

  • मानव श्रृंखला ने रचा इतिहास, 3 करोड़ से अधिक लोग हुए शामिल: नीतीश

    पटना. मानव श्रृंखला के बाद सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि इससे पहले भी कई जगहों पर मानव श्रृंखला बनी थी, लेकिन बिहार में बनी मानव श्रृंखला ने इतिहास रच दिया। इसमें करीब 3 करोड़ से अधिक लोग शामिल हुए हैं। 11400 km लम्बी थी मानव श्रृंखला...
     
    सीएम ने कहा कि मानव श्रृंखला के लिए 11400 km का रूट तैयार था। इस रूप पर शहर से लेकर गांव और कस्बों तक के लोग लाइन में लगे हुए थे। इसमें सभी धर्म, पार्टी और संगठन के लोग थे। इस दौरान हाईकोर्ट के बातों का भी ध्यान रखा गया। अबतक मिले रिपोर्ट के अनुसार 3 करोड़ से अधिक लोग शामिल हुए। इस सफलता को लेकर बिहार की जनता को बधाई देता हूं।
     
     
    कई जगह लगी दो लाइन
    सीएम ने कहा कि लोगों में मानव श्रृंखला को लेकर काफी उत्साह था। कई जगह इतना अधिक लोग शामिल हो गए कि लाइन में लगने के लिए जगह भी नहीं थी। लाइन के पीछे भी एक अलग लाइन लग गई। बिहार के लोग नशाबंदी के पक्षधर हैं। मानव श्रृंखला को लोग निर्धारित समय 12:15 बजे था, लेकिन उत्साह के कारण लोग समय से पहले ही लाइन में लगे थे।
     
     
    यहां के लोग फैलाते हैं भ्रांतियां
    सीएम ने कहा बिहार के बारे में यहां के लोग ही गलत भ्रांतिया फैलाते हैं। यह काम कुछ चंद लोग करते हैं। बिहार के लोग स्वाभिमानी होते हैं। जो एक बार ठान लेते हैं। वह करके दिखाते हैं।
  • रोजगार मेले में CM रघुवर दास ने की घोषणा : इस साल जुलाई तक मिलेंगी 45 हजार नौकरियां

    रांची।चीफ मिनिस्टर रघुवर दास ने कहा है कि इस वर्ष जुलाई तक राज्य में 45 हजार नौकरियां युवाओं को दी जाएंगी। सीएम ने कहा कि एक साजिश के तहत पिछले 14 साल से नौकरियों को दबा कर रखा गया था। इससे यहां के युवाओं के साथ-साथ राज्य को भी नुकसान हुआ। रोजगार मेले में बोल रहे थे सीएम...
     
    - सीएम रघुवर दास शनिवार को रांची के हेहल स्थित आईटीआई मैदान में आयोजित दो दिवसीय राज्यस्तरीय दत्तोपंत ठेंगड़ी राेजगार मेला के उद्घाटन अवसर पर अवसर पर बोल रहे थे।
     
    - सीएम ने कहा कि राज्य सरकार यह कोशिश कर रही है कि राज्य में ही युवाओं को रोजगार मिल जाए। इससे राज्य का भी विकास तेज होगा।
     
    - सीएम ने कहा कि राज्य सरकार फरवरी महीने में ग्लोबल इंवेस्टर समिट का आयोजन कर रही है। इस आयोजन से देश भर में राज्य की छवि बेहतर होगी। साथ ही यहां रोजगार भी बढ़ेगा।
     
    - इस अवसर पर सीएम ने कई युवाओं को नियुक्ति पत्र भी प्रदान किए। सीएम ने कहा कि श्रम सबसे बड़ी पूंजी है। 5 साल के भीतर झारखंड को स्किल्ड राज्य बनाया जाएगा।
     
    - सीएम ने कहा कि पिछले 14 साल तक बेरोजगारी का फायदा उठाते हुए पिछली सरकारें ने स्थानीय नीति को रोके रखा।
     
    - नई सरकार में अबतक 30 हजार नियुक्तियां की जा चुकी हैं। आने वाले दिनों में 45 हजार और नियुक्तियां होंगी। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रोजगार मेला मे आये नवयुवकों को दंगल फिल्म जरुर देखने के लिए कहा।
     
    - कार्यक्रम में श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण मंत्री राज पलिवार, रांची के सांसद रामटहल चौधरी, हटिया के विधायक नवीन जयसवाल आदि मौजूद थे।
     
    - मंत्री राज पलिवार ने कहा कि आनेवाले दिनों में राज्य सरकार की ओर से प्रमंडल स्तरीय रोजगार मेला का आयोजन किया जायेगा।
     
  • इस साल के अंत तक राज्य के हर घर और गांव में मिलेगी बिजली: नीतीश

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इस वर्ष के अंत तक बिहार में ऐसा एक भी गांव या टोला नहीं रहेगा, जहां तक बिजली ना पहुंची हो। हर घर बिजली हमारी सरकार का निश्चय है। अगले साल के अंत तक राज्य के हरेक घर को बिजली का कनेक्शन मिल जाएगा। इसके लिए घरों का सर्वेक्षण लगभग पूरा हो गया है।

    गुरुवार को आर.एम.के. हाई स्कूल के मैदान में आयोजित चेतना सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को क्या चाहिए? पीने के लिए स्वच्छ पानी मिल जाए, हर घर में शौचालय हो, हर घर में बिजली हो और गांव-गांव में पक्की गली-नाली हो। केन्द्र सरकार स्मार्ट सिटी की बात करती रहती है लेकिन योजना से बिहार का हर गांव स्मार्ट हो जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव के पहले महा गठबंधन बना और हमलोगों ने साझा कार्यक्रम तय किए। उसमें सात निश्चय शामिल था।

    इस वर्ष अंत...
    सरकार बनने के बाद हमने लोगों से किए वादों पर अमल करना शुरू कर दिया। विभिन्न स्कीमों और योजनाओं का सूत्रण किया गया। जो योजनाएं लागू की गई, उनका हाल देखने के लिए हम निश्चय यात्रा पर निकले हैं। चेतना सभा को जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा और एडीजी सुनील कुमार ने भी संबोधित किया। 

    इससे पहले मुख्यमंत्री ने बौंसी की कुड़रो पंचायत के सिंघेश्वरी गांव में हर घर नल का जल, हर घर में बिजली का कनेक्शन, हर घर में शौचालय का निर्माण, पक्की गली-नाली योजना पर अमल देखा। उन्होंने बांका सदर अस्पताल परिसर में 9.69 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित जीएनएम ट्रेनिंग स्कूल और छात्रावास भवन का उद्घाटन किया।
     
    जो पढ़ेगा वही बढ़ेगा 
    मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के विकास के लिए पांच कार्यक्रम बनाए गए हैं। बारहवीं कक्षा के बाद बहुत कम लोग आगे पढ़ाई जारी रखते हैं। अब इच्छुक छात्र-छात्राओं को 4 लाख रुपये तक का स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा। जो पढ़ेगा वहीं आगे बढ़ेगा। इंटरव्यू या नौकरी का फार्म भरने के लिए युवाओं को दो साल तक हरेक माह 1 हजार रुपये दिए जाएंगे। मैट्रिक पास करने के बाद युवाओं को कौशल विकास केन्द्र में कम्प्यूटर, भाषा और व्यवहार का कौशल सिखाया जाएगा।
     
    जमीन, बिजली, थाना की समस्या का निवारण 60 दिनों के अंदर
    मुख्यमंत्री ने कहा कि जमीन, बिजली और थाना से जुड़ी समस्याओं का निवारण 60 दिनों के अंदर लोक शिकायत निवारण कार्यालय में किया जा रहा है। अब तक 1 ,13,116 आवेदनों में से 89,937 का निपटारा हो गया है।
     
    एक माह में बांका को नगर परिषद का दर्जा
    मुख्यमंत्री ने कहा कि बांका अभी नगर पंचायत है। इसकी आबादी 40 हजार से अधिक हो चुकी है। ऐसी स्थिति में बांका नगर पंचायत को नगर परिषद का दर्जा दिया जा रहा है। यह काम एक माह में हो जाएगा।
  • शराबबंदी के समर्थन में एक सूत्र में जुड़ा बिहार, बनी विश्व की सबसे लंबी मानव श्रृंखला

    पटना.शराबबंदी के समर्थन में पूरा बिहार एक सूत्र में बंधा। दोपहर 12.15 बजे से एक बजे तक विश्व की सबसे लंबी मानव श्रृंखला बनी। गांधी मैदान में विश्व की इस सबसे लंबी मानव श्रृंखला की शुरुआत सीएम नीतीश कुमार व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने गुब्बारा उड़ाकर की। नीतीश ने कहा- पूरी तरह से सफल रही मानव श्रृंखला...
     
     
    मानव श्रृंखला की शुरुआत के साथ ये सभी नेता लाइन में खड़े हुए। पूरे विश्व ने सामाजिक बुराई शराब के खिलाफ राज्य के मुखिया व लोगों की ताकत देखी। मानव श्रृंखला समाप्त होने के बाद सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि लोगों का दृढ़ निश्चय देखने को मिला है। लोगों ने देश ही नहीं, पूरे विश्व को अपनी निश्चय शक्ति से अवगत कराया है। यह मानव श्रृंखला पूरी तरह से सफल रही।
     

    उम्मीद से अधिक मिली सफलता
    राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने भी मानव श्रृंखला को सफल बताया और कहा कि इससे सभी वर्गों में सकारात्मक संदेश गया है। मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा कि पूरे प्रदेश से रिपोर्ट आ रही है। मानव श्रृंखला हर जगह जबर्दस्त तरीके से सफल रही। हर जिले से रिपोर्ट आ रही है। इन रिपोर्टों के आधार पर हम दावा कर सकते हैं कि मानव श्रृंखला में हमने जो उम्मीद की थी, उससे काफी ज्यादा सफलता मिली। लोगों ने इस कार्यक्रम को स्वतः समर्थन दिया है।
     
     
    सीएम व लालू प्रसाद के साथ-साथ उनके सभी सहयोगी सवा 12 बजे से एक बजे तक लाइन में लगे। इससे अन्य लोगों में भी उत्साह का माहौल दिखा। मानव श्रृंखला की फोटोग्राफी पांच सैटेलाइट से की गई। मौसम साफ होने से तस्वीर भी सही आने की उम्मीद की जा रही है। इसके अलावा गांधी मैदान की तस्वीर लेने के लिए हेलीकॉप्टर की भी मदद ली गई। चार अन्य हेलीकॉप्टर से भी फोटोग्राफी की गई। ड्रोन कैमरों का भी इस्तेमाल किया गया।
     
     
    राज्य के चारो कोने एक सूत्र में बंधे
    राज्य के चारो कोनों को मानव श्रृंखला के माध्यम से एक सूत्र में बांध दिया गया। श्रृंखला के जरिए पूरब से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण एनएच व एसएच पर 3007 किलोमीटर लंबा बनाया गया। इसमें करीब 56 लाख लोग शामिल हुए। उत्तर बिहार में मानव श्रृंखला का प्रस्तावित रूट 1821 किलोमीटर का था, जबकि दक्षिण बिहार में मानव श्रृंखला का प्रस्तावित रूट 1186 किलोमीटर रहा। उत्तर बिहार की श्रृंखला दक्षिण बिहार से महात्मा गांधी सेतु, राजेन्द्र सेतु और बिक्रमशिला सेतु पर मानव श्रृंखला के जरिए जोड़ी गई। जिलों के भीतर की सड़कों पर 8285 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनी, जिसमें 1.5 करोड़ से अधिक लोगों ने भाग लिया।
 
LIVE NEWS
BIG NEWS
 
new scity
KASHISH NEWS PROGRAMMES
kashish News Programmes...
 
 
 
व्यापार
 
खेल जगत
..PICTURE GALLERY
आपकी राय
क्या बिहार की मानव श्रृंखला विश्व रिकॉर्ड बनायेगी ?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
Facebook Like
जरुर देखें
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2017 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech