ब्रेकिंग न्यूज़  
  • रुस में डॉक्टरी पढ़ने वाले बच्चे अब दिल्ली के एम्स सहित कई नामचीन अस्पतालों में कर सकेंगे इंटर्नशिप

    रुस में डॉक्टरी पढ़ने वाले बच्चे अब दिल्ली के एम्स सहित कई नामचीन अस्पतालों में कर सकेंगे इंटर्नशिप। वकायदा इसको लेकर रुसी डेलीगेशन ने रुस एजुकेशन के साथ मिलकर एम्स के फैकेल्टी ऑफ डीन डॉ बलराम एरन और रॉकलैंड असत्पताल के डायरेक्टर के साथ अहम मुलाकात की। मुलाकात के दरम्यान डेलीगेशन ने तय किया है कि भविष्य में असप्ताल प्रशासन के साथ एग्रीमेंट साईन किया जाएगा। रुस की राजधानी मॉस्को से तकरीबन 700 किलोमीटर दूर मारी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर मिस. ईरानी पेट्रोवा और चांसलर मिखाईल शेवोत्सव एम्स प्रशासन के साथ मिलकर काफी खुश दिखे। मारी यूनिवर्सिटी में तकरीबन 600 बच्चे हर साल मेडिकल की पढ़ाई के लिए जाते हैं। जिसमें से 30-40 बच्चे बिहार, 10-15 बच्चे झारखंड, समेत उत्तर भारत से बड़ी तादाद में बच्चे मारी यूनिवर्सिटी में  पढाई कर रहे हैं। आने वाले समर वैकेशन में भारतीय बच्चे देश के टॉप अस्पतालों में काम कर सकें, देश की मेडिकल सिस्टम रूस में पढ़ाये जाने वाले सिलेवस से तालमेल खा सके इसको लेकर यूनिवर्सिटी बड़ी कामयाबी की तरफ बढ़ रही है। मारी यूनिवर्सिटी के चांसलर ने उत्साहित होकर कहा कि जल्द ही हम रूसी दूतावास के जरिए देश के अलग अलग राज्यों में स्थित अस्तपतालों के साथ संपर्क करेंगे जिससे हमारे यहां पढ़ने वाले बच्चों को इंडिया के अस्तपताल, मरीज, रोग के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिल सके।

        इंडिया में बच्चों को ज्याद से ज्यादा इंटर्नशिप मिल सके इसको लेकर मारी यूनिवर्सिटी और रुस एजुकेशने के बीच एक एमओयू साईन हुआ है जिसके तहत रूस एजुकेशन जल्द ही देश के मेडिकल यूनिवर्सिटी के साथ करार करेगी जिससे बड़ी तादाद में बच्चे इंडिया में मेडिकल पढाई के गुर सीख सकें। एक आंकड़े के मुताबिक हर साल इंडिया से तकरीबन पांच हजार बच्चे रुस में मेडिकल की पढ़ाई के लिए जाते हैं। रुस और इंडिया की दोस्ती के सत्तर साल पूरा होने के मौके पर दोनो ही देश चाहते हैं कि एजुकेशन, हेल्थ की दिशा में सहयोग को बढ़ाया जाए.

  • बाबूलाल मरांडी, प्रदीप यादव समेत 54 नेताओं की गिरफ्तारी का आदेश

    रांची। सीएनटी एसपीटी बिल के विरोध में 23 नवंबर को विधानसभा घेरने जा रहे नेताओं को पुलिस द्वारा रोके जाने पर हुए बवाल मामले में सिटी एसपी अमन कुमार ने सुपरविजन जारी कर दिया है। इसमे पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी, पूर्व मंत्री रामचंद्र केशरी, बंधु तिर्की, पूर्व सांसद  भुवनेश्वर मेहता, जदयू के  प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो और विधायक प्रदीप यादव सहित 54 नेताओं की गिरफ्तारी का आदेश दिया गया है।

    यह आदेश जगन्नाथपुर थाना में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर दिया गया है। प्राथमिकी की जांच में सभी पर लगे आरोप सही पाए गए। सभी के खिलाफ जगन्नाथपुर थाना में 23 नवंबर, 2016 को उमेश चंद्र दास तत्कालीन मजिस्ट्रेट की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। प्राथमिकी में शामिल आरोपियों पर सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, पुलिस पदाधिकारी और जवानों के साथ धक्का-मुक्की करने, सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारा लगाने सहित अन्य आरोप थे। सभी सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन प्रस्ताव के विरोध में  विधानसभा का घेराव करने जा रहे थे। सिटी एसपी ने गिरफ्तारी का आदेश हटिया डीएसपी विकास कुमार पांडेय के सुपरविजन रिपोर्ट के आधार पर  केस के आइओ दारोगा महेश कुमार को दिया है। गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस कुर्की की कार्रवाई कर सकती है।  सिटी एसपी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि विधायक प्रदीप यादव विधानसभा की ओर से आकर भीड़ में घुस गए और भीड़ को उकसाने का प्रयास किया। इस  कारण लोग आक्रोशित होकर अनियंत्रित हो गए। उग्र भीड़ को नियंत्रित करने के लिए वाटर कैनन से पानी की बौछार की गयी थी। भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया, जिसमें कई जवानों और पदाधिकारियों को चोट लगी। स्थिति के अनियंत्रित होने पर अश्रु गैस का गोले छोड़े गए थे। आइओ को सिटी एसपी ने यह भी निर्देश दिया है कि घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग की गई तो उसका अवलोकन कर अग्रेतर कार्रवाई करें। सभी अभियुक्तों का नाम और पता का सत्यापन किया जाए।23 नवंबर को प्राथमिकी के नामजद समेत सैंकड़ो कार्यकर्ता विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न करने की नियत से विधानसभा की ओर जा रहे थे। सभी अरगोड़ा पुल से डिबडीह की ओर जा रहे थे। इसी बीच, अरगोड़ा चौक पर मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारियों ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन  नहीं माने। सेटेलाइट चौक के पास लगी बैरिकेडिग तोड़कर पुलिस के साथ धक्का-मुक्की की और सरकार व प्रशासन विरोधी नारा लगाते हुए वे आगे बढ़ने लगे। इसी बीच, विधायक प्रदीप यादव भी पहुंचे गए, वह विधानसभा की अंदर की बातों को बढ़ा-चढ़ा कर जुलूस में शामिल लोगों को बता कर उकसाने लगे। उग्र भीड़ पुलिस पर पथराव करने लगी। इसके बाद भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अश्रु गैस के गोले दागे गए, तब जाकर भीड़ तितर-बितर हुई।पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी, पूर्व मंत्री रामचंद्र केशरी, बंधु तिर्की, पूर्व सांसद  भुवनेश्वर मेहता, विधायक प्रदीप यादव, लक्ष्मण  स्वर्णकार,  रमेश राही, खालिद खलील, संतोष  कुमार,  योगेंद्र प्रताप सिंह, आदित्य मोनू, सीताराम जायसवाल, कृष्ण वर्मा,  रणजीत सिंह, इमरान अंसारी, मुस्तकीम खान, शिव कुमार यादव, तिलेश्वर राम,  संजय पांडेय, छोटू खान, अभिनव कुमार, सतीश सिंह, राजेंद्र चौधरी, सुधीर  कुमार, कृष्णा गुप्ता, मोहन ठाकुर, रवींद्र सिंह, प्रभात भुइयां, जदयू के  प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो, प्रदेश उपाध्यक्ष हाजी हासिव खान, रामस्वरूप  यादव, पिंटू सिंह, प्रकाश नोनिया, महमूद आलम, धनंजय कुमार, फिरोज अहमद,  मुन्ना सिंह, विकास सिंह, स्मृतिकांत सिंह, जावेद मस्तान, राजू सिंह,   सुशांतो मुखर्जी, अजय सिंह, हदीश अंसारी, गौतम सागर राणा, एसआइ कादरी, मो  हातिम अंसारी, तारकेश्वर यादव, मोहसिन खान, पूनम झा, मुमताज कुरैशी, शोभा  कुरैशी, आबिद सहित अन्य अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी बनाया  गया था। 

  • बिहार में 31 अक्टूबर तक मतदाता सूची में जोड़ा जायेगा नाम

    पटना - मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने पटना में कहा कि मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत वोटरलिस्ट में नाम शामिल करने के लिए एक बार फिर अभियान शुरू किया गया है। 31 अक्टूबर तक सूची में नाम जोड़ने के लिए दावा और आपत्ति की जा सकती है।

    11 से 18 अक्टूबर तक बूथों पर सूची का प्रकाशन होगा। 14 से 21 अक्टूबर तक राजनैतिक दलों के साथ दावा आपत्ति को लेकर बैठक होगी।  30 नवंबर तक सभी दावो  का निष्पादन कर दिया जायेगा। 10 जनबरी को अंतिम रूप से सूची का प्रकाशन किया जायेगा।

    फिलहाल राज्य में 69321711 वोटर सूची में हैं। कुल पुरुष वोटर की संख्‍या 36782873 है। वहीं, महिला वोटर 32536566 और थर्ड जेंडर 2272 है।

    निर्वाचन अगोग का निर्देश
    निर्वाचन आयोग ने यह भी निर्देश दिया है कि वोटरलिस्ट पुनरीक्षण के अधिकारियों के तबादले पर रोक रहेगी। इस साल 18 से 19 साल के वोटर में कमी आयी है। आने वाले चुनाव में बूथों की संख्या बढ़ेगी। साथ ही अब ग्रामीण क्षेत्रों में एक बूथ पर 1200 से अधिक वोटर नहीं होगा। वहीं, शहरी क्षेत्र में 1400 वोटर होगा।

  • बिहार के 38वें राज्यपाल बने सत्यपाल मलिक, शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए सीएम

    पटना-सत्यपाल मलिक ने बिहार के 38 वें राज्यपाल का पद संभाल लिया। बुधवार को राजभवन के राजेंद्र मंडप में उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने राज्यपाल की नियुक्ति संबंधी अधिसूचना पढ़ी। राज्यपाल के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा ने शपथ दिलाने के लिए मुख्य न्यायाधीश से अनुरोध किया। राज्यपाल ने हिंदी में शपथ ली।


    शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विधान परिषद के उप सभापति हारुण रसीद, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, पशु व मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस, सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, संगठन महामंत्री नागेंद्रजी, जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व प्रवक्ता केसी त्यागी, रालोसपा सांसद डॉ. अरुण कुमार सहित राज्य मंत्रिमंडल सदस्यों के साथ अर्बन इंम्प्रूवमेंट ट्रस्ट बाड़मेर की चेयरमैन डॉ. प्रियंका चौधरी, जयनारायण विवि जोधपुर के कुलपति डॉ. आरपी सिंह, जोधपुर के जिला प्रमुख चौधरी पूना राम व पटना विवि के सिनेटर पप्पू वर्मा, मुकेश कुमार सहित कई लोग मौजूद थे।

    तेजस्वी सहित राजद व कांग्रेस के नेता नहीं दिखे
    विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी सहित कोई भी राजद नेता शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए। राजद के साथ ही कांग्रेस विपक्ष का कोई बड़ा चेहरा नहीं दिखा। राजद के तो एक भी नेता शामिल नहीं हुए, जबकि कांग्रेस के विधान पार्षद रामचंद्र भारती मौजूद थे। कांग्रेस के कोई बड़ा चेहरा नहीं दिखा।

    राज्यपाल ने 10 बजकर 5 मिनट पर शपथ लिया गया। निर्धारित समय से 7 मिनट पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे। 10 मिनट पूर्व समारोह में मुख्य न्यायाधीश पहुंचे। लगभग 15 मिनट में शपथ ग्रहण समारोह समाप्त हो गए।
  • विश्व धर्म सम्मेलन में नीतीश ने कहा- यहां से दहेज प्रथा के खिलाफ जाएगा मैसेज

    आरा-बिहार के भोजपुर जिले के चंदवा में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार भौतिक के साथ सामाजिक विकास के लिए भी काम कर रही है। समाज कल्याण के लिए शराबबंदी और नशाबंदी जैसे फैसले लिए गए। अब बिहार सरकार बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान चला रही है। यहां देश भर से विद्वान लोग जुटे हैं। यहां से बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ बिहार सहित पूरे देश में मैसेज जाएगा।

    जात पात से ऊपर उठने की है जरूरत
    दूसरी ओर धर्म सम्मेलन में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि जात पात का भेद सनातन धर्म में नहीं है। यह हमारी परंपरा नहीं है। हमें जातपात से ऊपर उठकर सभी के बारे में एक समान भाव रखने की जरूरत है। चाहे कैसी भी स्थिति हो इंसान को हमेशा धर्म के रास्ते पर चलना चाहिए। पूर्वजों द्वारा बताया गया रास्ता ही सही है। जीवन में भौतिक सुख के साथ आध्यात्मिक सुख भी जरूरी है। सत्य का पालन भले ही कठोर है, लेकिन इंसान को हमेशा सत्य के मार्ग पर चलना चाहिए।


    5 अक्टूबर को होगी पूर्णाहुति
    - चंदवा में 25 सितंबर से शुरू श्री रामानुजाचार्य सहस्राब्दि महामहोत्सव सहस्त्र महायज्ञ पूरे वैदिक रीति-रिवाज से चल रहा है। इसमें प्रति दिन लाखों की संख्या में लोग हिस्सा ले रहे हैं।
    - महायज्ञ की पूर्णाहुति 5 अक्टूबर को होने वाली है। इससे पहले यहां 4 और 5 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय धर्म सम्मेलन, संत सम्मेलन और श्रीवैष्णव सम्मेलन होने वाला है। इसमें बड़ी संख्या में धर्माचार्य, विद्वान और राजनेता शामिल होंगे।


    आरा के सहस्राब्दी महायज्ञ में आज हेलीकॉप्टर से पुष्प-वर्षा
    - आयोजन समिति के अनुसार 4 अक्टूबर को यज्ञ स्थल पर हेलीकॉप्टर से पुष्प-वर्षा का कार्यक्रम है। 
    - इसके साथ ही दूसरे हेलीकॉप्टर से विभिन्न तीर्थों से एकत्र किए गए जल का छिड़काव किया जाएगा। 
    - कार्यक्रम को ले कर देश-विदेश से संत महात्माओं का आगमन हो चुका है। 
    - एक अनुमान के मुताबिक मंगलवार को यज्ञ सिटी में आने वाले श्रद्धालुओं का आंकड़ा सात से आठ लाख बताया जा रहा है। 
    - यज्ञ सिटी में तीन तरफ से पहुंचने का मुख्य रास्ता है। इनमें पहला आरा शहर से चंदवा मोड़, दूसरा आरा-सलेमपुर रोड से मंझौवा बांध होकर, तीसरा आरा-बक्सर नेशनल हाइवे पर बामपाली होकर। 
    - मंगलवार को इन तीनों रास्तों पर चार से पांच किलोमीटर दूरी तक सिर्फ और सिर्फ श्रद्धालु दिख रहे थे। यह नजारा सुबह से शाम तक रहा।

 
LIVE NEWS
 
new scity
KASHISH NEWS PROGRAMMES
kashish News Programmes...
 
 
 
व्यापार
SBI चीफ अरुंधति भट्टाचार्य की सैलरी जानते हैं आप? उनका वेतन सुन चौंक जाएंगे

नई दिल्ली: दुनिया के 50 सबसे बड़े बैंकों में शामिल और देश...

बॉलीवुड
ट्विंकल ने शुरू कर दी है टॉयलेट एक प्रेम कथा-2 की तैयारी, देखें PHOTO

अभी तक तो अक्षय और भूमि पेडनेकर की टॉयलेट एक प्रेम कथा का पहला पार्ट ही सुर्खियां...

 
खेल जगत
..PICTURE GALLERY
आपकी राय
क्या बाढ़ में लोगों तक राहत बचाव सामग्री पहुंच रही है ?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
Facebook Like
जरुर देखें
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2017 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech